Thought For The Day

वाणी का प्रयोग करते समय यह अवश्य ख्याल रखा जाए कि मैं जिससे बात करता हूँ वह कोई मशीन नहीं है, रोबोट नहीं है, लोहे का पुतला नहीं है, मनुष्य है | उसके पास दिल है | हर दिल को स्नेह, सहानुभूति, प्रेम और आदर की आवश्यकता होती है |

Print
271 Rate this article:
3.5
Please login or register to post comments.