Thought For The Day

परमात्मा के चिंतन से बढ़कर अपने चित्त और जीवन को पवित्र करनेवाली अन्य कोई वस्तु नहीं है ।

Print
118 Rate this article:
No rating
Please login or register to post comments.