Thought For The Day

गुरुकृपा, ईश्वरकृपा और शास्त्रकृपा तो अमाप है। किसी के ऊपर कम ज्यादा नहीं है। कृपा हजम करने वाले की योग्यता कम ज्यादा है । योग्यता लाने का पुरुषार्थ करना है, ईश्वर पाने का नहीं ।

Print
644 Rate this article:
3.9
Please login or register to post comments.