About Us

सबका मंगल ,सबका भला का उदघोष करनेवाले प्रातः स्मरणीय पूज्य संत श्री आशारामजी बापू अपने साधकों को भक्तियोग, ज्ञानयोग के साथ-साथ निष्काम कर्मयोग का भी मार्ग बताते है | देशभर में फैली श्री योग वेदांत सेवा समितियों के सहयोग से राष्ट्रभर में नई आध्यात्मिक चेतना जगाकर पूज्यश्री का दिव्य सत्संग एवं दैवीकार्यों का लाभ गाँव-गाँव में जन-जन तक पहुँचाना, अखिल भारतीय श्री योग वेदांत सेवा समिति का मुख्य उद्देश्य है |

Our Sewa Areas

Serve Tribal Area

Unique Celebration
Parents Worship Day
Basil Worship Day - 25th Dec
Tulsi Poojan Day
Celebration With Prisoners
Rakshabandhan
Women Empowerment
Serving Poor on Diwali
Deepawali
Encouraging Natural Holi
Natural Holi
Balsanskar Kendras
Yuva Sewa Sangh
Gurukuls
Students (Gurukuls)

Latest Service Activities

धानपुर में पूज्य संत श्री आशारामजी आश्रम, गोधरा द्वारा दरिद्रनारायणों में अनाज व जीवनोपयोगी वस्तुओं का वितरण

संत श्री आशारामजी बापू की प्रेरणा से साधकों द्वारा गौशला पटियाला में गौ-माता को हरा चारा, पेठा, लौकी व तरभुज खिलाए गए

संत श्री आशारामजी बापू की प्रेरणा से श्री राधेकृष्ण जनहित सेवा समिति गौशाला,पटियाला में गौ-माता को खिलाए गए 750 किलोग्राम घिया

मोरवा, हडफ, गोधरा, गुजरात में संत श्री आशारामजी आश्रम गोधरा द्वारा असहाय व दरिद्रनारायणों को अनाज वितरण

संत श्री आशारामजी बापू की प्रेरणा से श्री कृष्णा गौशला, शक्ति नगर,अलिपूर रोड, पटियाला में गौ-माता को खिलाए गए 900 किलोग्राम घिया

संत श्री आशारामजी बापू की पावन प्रेरणा से जामनगर, गुजरात द्वारा शहर में असहाय व जरुरतमंद लोगों में किया गया भंडारा

संत श्री आशारामजी बापू की प्रेरणा से गौशला, नज़दीक बड़ी नदी, पटियाला में गौ-माता को खिलाए गए 800 किलोग्राम घिया

संत श्री आशारामजी बापू की प्रेरणा से जनहित गऊसेवा अस्पताल, सनौर सड़क, पटियाला में गौ-माता को खिलाए गए 750 किलोग्राम घिया

जामनगर शहर, गुजरात में पूज्य संत श्री आशारामजी बापू के साधकों द्वारा जरुरतमंद लोगों को 350 किलोग्राम आम वितरण

Upcoming Programs by Ashram Vakta

Admin

वैशाखी पूनम :-

 वैशाखी पूनम :-

वैशाख मास की पूर्णिमा की कितनी महिमा है !! एस पूर्णिमा को जो गंगा में स्नान करता है , भगवत गीता और विष्णु सहस्त्र नाम का पाठ करता है उसको जो पुण्य होता है उसका वर्णन इस भूलोक और स्वर्गलोक में कोई नहि कर सकता उतना पुण्य होता है | ये बात स्कन्द पुराण में लिखी हुए है | अगर कोई विष्णु सहस्त्र नाम का पाठ न कर सके तो गुरु मंत्र की १० माला जादा कर ले आपने नियम से |

- श्री सुरेशानंदजी Haridwar 6th May’ 2012

 


 


Print
3448 Rate this article:
2.5
Please login or register to post comments.