aboutus-banner_newRudraksh%20lks%20sliding%20bannerConspiracyAgainstHinduism-Save-Cows-Bapuji-ne-Gau-sewa-sikhayi
AkhilBharatiya

Divine Satsang by Shri Satish Bhai : Rajasthan

11th - 19th Sept

श्री सतीश भाई का सत्संग : कोटा (राज.) में 
11 से 13 सितम्बर शाम 5 बजे से
स्थान : संत कंवरराम धर्मशाला, गुमानपुरा, कोटा (राजस्थान) 
संपर्क : 9828286338, 9413002898

श्री सतीश भाई का सत्संग : कोटा आश्रम में 
13 सितम्बर सुबह 11 बजे से 
स्थान : संत श्री आशारामजी बापू आश्रम, लखावा, कोटा (राजस्थान)
संपर्क : 9828286338, 9413002898


श्री सतीश भाई का सत्संग : गुडाला (चेचट) जि.कोटा (राजस्थान) में 
14 सितम्बर दोपहर 12 बजे से 
स्थान : गुडाला (चेचट) जि.कोटा (राजस्थान) 
संपर्क : 9950048334

 
श्री सतीश भाई का सत्संग : भवानीमंडी (राजस्थान) में 
15 सितम्बर 
स्थान : भवानीमंडी जि.झालावाड (राजस्थान) 
संपर्क : 9829597941


श्री सतीश भाई का सत्संग : भूमाडा (बकानी) में 
16 सितम्बर दोपहर 1 बजे से 
स्थान : भूमाडा (बकानी) जि.झालावाड (राजस्थान) 
संपर्क : 9414570491


श्री सतीश भाई का सत्संग : देवली (झालावाड) में 
17 और 18 सितम्बर दोपहर 1 बजे से 
स्थान : संत श्री आशारामजी बापू आश्रम, देवली, इकलेरा जि.झालावाड (राजस्थान) 
संपर्क : 9414887240

श्री सतीश भाई का सत्संग : खिलचीपुर (म.प्र.) में 
19 सितम्बर सुबह 10 बजे से और शाम 4 बजे से 
स्थान : संत श्री आशारामजी बापू आश्रम, NH 52, खिलचीपुर जि.राजगढ़ (म.प्र.)
संपर्क : 9425443399, 9755993090

Previous Article Divine Satsang by Sadhvi Rekha Bahan : Mumbai & Valsad, Vapi (Gujarat)
Print
11653 Rate this article:
4.0
LocationRajasthan
Date_Time11th - 19th Sept
Please login or register to post comments.

About Us

सबका मंगल ,सबका भला का उदघोष करनेवाले प्रातः स्मरणीय पूज्य संत श्री आशारामजी बापू अपने साधकों को भक्तियोग, ज्ञानयोग के साथ-साथ निष्काम कर्मयोग का भी मार्ग बताते है | देशभर में फैली श्री योग वेदांत सेवा समितियों के सहयोग से राष्ट्रभर में नई आध्यात्मिक चेतना जगाकर पूज्यश्री का दिव्य सत्संग एवं दैवीकार्यों का लाभ गाँव-गाँव में जन-जन तक पहुँचाना, अखिल भारतीय श्री योग वेदांत सेवा समिति का मुख्य उद्देश्य है |

Upcoming Programs by Ashram Vakta

Upcoming Seva Activities

Spiritual Blessings
Host

Spiritual Blessings

FROM SADGURU SAI LILASHAHJI MAHARAJ

Showering His blessings; the supreme benefactor his holiness Sadhguru Sai Lilashahji Maharaj said to him, "Asharam! You emit your spiritual fragrance like a rose; and the world will know you. Now leading a householder's life, you distribute the gifts of spiritual blessings to relieve people suffering from sins, afflictions, grief, tension, diseases and sorrows; and awaken them in their own Self."

Watch Complete Life Sketch

Print
378 Rate this article:
No rating
Please login or register to post comments.