स्वास्थ्यहितकारी फल : संतरा
Ashram India

स्वास्थ्यहितकारी फल : संतरा

विटामिन ‘सी’ से भरपूर संतरा पोषक तत्त्वों और रोगनिवारक क्षमता से युक्त एक बहूपयोगी फल है । यह ऐसे अनेक तत्त्वों से भरपूर है जिनसे कमजोरी दूर होकर शरीर में ऊर्जा उत्पन्न होती है, चुस्ती-फुर्ती बढ़ती है और त्वचा में निखार आता है ।

यह संक्रामक रोगों से रक्षा करता है, हृदय को बल देता है, भोजन के प्रति रुचि उत्पन्न करता है और आँतों को साफ करता है । गर्मी से बचने के लिए संतरे का शरबत पीना फायदेमंद है । इससे वातावरण की रुक्षता व उष्णता से शरीर की सुरक्षा होती है । बच्चे, बूढ़े, रोगी और दुर्बल लोगों को दुर्बलता दूर करने हेतु संतरे का सेवन लाभकारी है । यह कुपोषण के कारण उत्पन्न होनेवाले रक्ताल्पता, सूखा रोग (rickets) आदि रोगों में लाभदायी है ।

संतरा-सेवन के लाभ

* नेत्रों की जलन, आंतरिक गर्मी, प्यास की अधिकता, हाथ-पैरों की जलन आदि पित्तजन्य विकारों में फायदेमंद ।

* अजीर्ण, कब्ज आदि पेट की गड़बड़ियाँ, बवासीर, गुदचीर (fissure) आदि में उपयोगी ।

* हृदय को स्वस्थ रखने तथा हानिकारक कोलेस्ट्रोल व रक्तचाप कम करने में सहायक ।

* उलटी होने या उलटी की आशंका होने पर लाभकारी ।

* चेहरे के रूखेपन, कांति का अभाव आदि में संतरे का रस लाभकारी ।

* दाँतों और मसूड़ों की सुरक्षा तथा खून की शुद्धि एवं वृद्धि में सहायक ।

छिलकों के लाभ

संतरे के छिलकों को छाया में सुखाकर रख लें । इनमें भी अनेक गुण विद्यमान होते हैं ।

* संतरे के छिलकों को स्नान के पानी में डाल दें । इनका जीवाणुरोधी गुण त्वचा को संक्रमण से बचाता है, मुलायम रखता है ।

* संतरे के छिलके चेहरे के सूक्ष्म रंध्रों को खोलने में भी मदद करते हैं । छिलकों के चूर्ण को गुलाबजल या दही के साथ मिला के चेहरे पर लगायें । इससे त्वचा मुलायम होती है, काले धब्बों में लाभ होता है, त्वचा का रंग निखरता है ।

* संतरे के ताजे छिलकों को रगड़ने से दाद, खुजली, फुंसियों आदि में लाभ होता है ।

औषधीय प्रयोग

कब्ज : सुबह दो संतरे खाने से पुराने-से-पुराने कब्ज में लाभ होता है ।

अपचन : संतरे के रस में काला नमक और अदरक का रस मिलाकर दिन में 1-2 बार लें ।

खून की कमी : प्रतिदिन संतरे खायें या संतरे, अनार व चुकंदर का रस मिलाकर लें ।

बच्चों का शारीरिक विकास : बच्चों को संतरे का रस पिलाने से उनका शरीर पुष्ट और हड्डियाँ मजबूत होती हैं, त्वचा निरोगी रहती है तथा शारीरिक विकास अच्छा होता है ।

संतरे के रस की मात्रा : बड़ों के लिए 150 से 200 मि.ली., बच्चों के लिए 50 से 100 मि.ली. दिन में 1-2 बार । संतरे के रस की अपेक्षा संतरा खाना अधिक लाभदायी है । संतरे के रेशे आँतों की सफाई करते हैं ।

------------------------------------

Orange: A wholesome Fruit      

Orange is a multi-utility fruit rich in Vitamin C and nutrients, endowed with curative properties. It is a rich source of numerous nutrients that remove debility, boost energy level, increase agility and make the skin beautiful.

It prevents infectious diseases, strengthens the heart, promotes desire for food and relish, and clears the bowels. Orange sherbet is beneficial for environmental heat. It protects the body from the harshness of environment and heat. Consumption of orange sherbet helps in removing weakness in children, old, sick and debilitated people. It helps in diseases caused my malnutrition like anemia, rickets etc.

Benefits of orange

* It helps in diseases caused by Pitta like burning sensation in eyes, internal heat, excessive thirst, burning sensation in hands and feet etc.

* It is beneficial for indigestion, abdominal disorders like constipation, piles, anal fissure etc.

* It helps in cardiac health and lowers levels of harmful cholesterol and blood pressure.

* It helps in nausea and vomiting.

* Orange juice helps when the facial skin becomes rough and dry, and loses glow.

* It protects teeth and gums, and helps in purification and formation of blood.

Benefits of orange peels

Dry orange peels in shade and store. They are endowed with many qualities.

* Drop orange peels in water for bathing. It prevents skin infections due to its antiseptic property; and keeps the skin soft.

* Orange peels help also in opening the minute pores of the face. Mix the powder of orange peels with rosewater or curd and apply the paste on the face. It makes the skin soft, removes dark patches and promotes complexion.

* Rub fresh orange peels on the lesions of ringworm, eczema, and pimples. It helps.

Medicinal uses of Orange

Constipation: Even the most chronic constipation is cured by eating two oranges in the morning.

Indigestion: Taking orange juice mixed with a pinch of rock salt and dry ginger helps in indigestion.

Anaemia: Eat oranges every day or take a mixture of orange juice, pomegranate juice and beet juice.

Physical growth of children: Giving orange juice to children nourishes their body, strengthens their bones, keeps skin healthy and their physical growth is enhanced.

Dosage of orange juice: 150-200 ml for adults and 50-100 ml for children once or twice a day. Eating orange fruit is more beneficial than drinking orange juice. Orange fibres clear the bowels.


Previous Article गुणों से भरपूर व विविध रोगों में लाभकारी : अनार
Print
275 Rate this article:
No rating

Please login or register to post comments.

Name:
Email:
Subject:
Message:
x