Shraddh Videos


Shraddh Audios



दमा मिटानेवाला प्रयोग
Ashram India

दमा मिटानेवाला प्रयोग

500 ग्राम देशी गाय के दूध में 50 ग्राम चावल डालकर खीर बनायें । खीर में शक्कर, सूखा मेवा आदि न डालें । रात्रि में 10 से 12 बजे तक चंद्रमा की किरणें खीर में पड़ें । इस प्रकार उसे रखें ।

       रात्रि 12 बजे खीर में दवा मिलायें । दाहिने हाथ की मध्याम (सबसे बड़ी) उँगली खीर में डालकर घुमाते हुए ‘ॐ नमो नारायणाय’ तथा गुरुमंत्र/इष्टमंत्र का अदल-बदलकर जप करें व यह भावना करें कि पूज्य बापूजी की, भगवान की कृपा से मेरा दमा अवश्य ठीक होगा । यह क्रिया रात्रि 2 बजे तक चालू रखें । फिर 2 से 4 बजे तक चाँदनी रात में जप, कीर्तन, सत्संग आदि का लाभ लें । फिर ‘ॐ वज्रहस्ताभ्यां नमः’ मंत्र का जप करते हुए चाँदनी रात में बैठकर 4 बजे खीर खायें । खीर खाने के बाद 1 से 2 कि.मी. जरुर टहलें । 6 बजे के बाद सोना हो तो सो सकते हैं । तत्पश्चात् दोपहर को नमक-मिर्च बिना की दाल व रोटी खा सकते हैं ।

ध्यान देः इस प्रयोग के बाद 40 दिन तक तेल, मिर्च, खटाई, घी, दूध का सेवन नहीं करें तभी दवा का पूरा लाभ होगा । गर्भवती स्त्री व नशा करनेवाले व्यक्ति पर यह दवा असर नहीं करती इसलिए वे इसे न लें । शरद पूर्णिमा की रात इस औषधि के सेवन के बाद पूर्व में चल रही दूसरी दवाएँ धीरे-धीरे बंद करें ।

Print
11037 Rate this article:
4.2
Please login or register to post comments.

Shraaddh