Sant Shri
  Asharamji Ashram

     Official Website
 
 

Register

 

Login

Follow Us At      
40+ Years, Over 425 Ashrams, more than 1400 Samitis and 17000+ Balsanskars, 50+ Gurukuls. Millions of Sadhaks and Followers.



Sadhana Videos
Screenshot Bhagvad Gita | Sadhkon Ke Liye Bhagwan Ka Nazariya ( साधकों के लिए भगवान का नज़रिया ) Bhagvad Gita | Sadhkon Ke Liye Bhagwan Ka Nazariya ( साधकों के लिए भगवान का नज़रिया ) : Karya Karan Siddhant Bhagvad Gita | Sadhkon Ke Liye Bhagwan Ka Nazariya ( साधकों के लिए भगवान का नज़रिया ) : Karya Karan Siddhant Screenshot Itni Rui ! Kaun Pinjega-Kaun Katenga - Tatvik Satsang इतनी रुई ! कौन पिंजेगा-कौन कटेंगे - तात्विक सत्संग इतनी रुई ! कौन पिंजेगा-कौन कटेंगे - तात्विक सत्संग Screenshot Pujya Bapuji's Precious Message For Sadhaks Pujya Bapuji's Precious Message For Sadhaks Pujya Bapuji's Precious Message For Sadhaks Screenshot Most Valuable ! ( सबसे कीमती चीज ! ) Sabse keemti cheej ! ( सबसे कीमती चीज ! ) Sabse keemti cheej ! ( सबसे कीमती चीज ! ) Screenshot Kya sansaar vastav me sapne jaisa hai? Kya sansaar vastav me sapne jaisa hai? Kya sansaar vastav me sapne jaisa hai? Screenshot Vastavik uddeshya kya hai ? Vastavik uddeshya kya hai ? Vastavik uddeshya kya hai ? Screenshot Upto When will you be the servent of body ? (कब तक रहोगे शरीर के गुलाम ?) Upto When will you be the servent of body ? (कब तक रहोगे शरीर के गुलाम ?) | Sant Shri Asharamji Bapu Upto When will you be the servent of body ? (कब तक रहोगे शरीर के गुलाम ?) | Sant Shri Asharamji Bapu Screenshot Biggest Wonder ! (सबसे बड़ा आश्चर्य !!! ) Biggest Wonder ! (सबसे बड़ा आश्चर्य !!! ) | Sant Shri Asaramji Bapu Tatvic Satsang Biggest Wonder ! (सबसे बड़ा आश्चर्य !!! ) | Sant Shri Asaramji Bapu Tatvic Satsang Screenshot Dur Nahi Durlabh Nahi.. (दूर नहीं, दुर्लभ नहीं..) Dur Nahi Durlabh Nahi.. (दूर नहीं, दुर्लभ नहीं..) 'Practicing to increase the gap between two thoughts is the supreme key to know your self'- Asaram Bapuji A Must Watch. Dur Nahi Durlabh Nahi.. (दूर नहीं, दुर्लभ नहीं..) 'Practicing to increase the gap between two thoughts is the supreme key to know your self'- Asaram Bapuji A Must Watch. Screenshot Prabhumay Jeevan jiyo { प्रभुमय जीवन जियो } Prabhumay Jeevan jiyo { प्रभुमय जीवन जियो } Prabhumay Jeevan jiyo { प्रभुमय जीवन जियो } Screenshot Dukh aye to sant sharan jaiye (दुःख आये तो संत शरण जाएँ )... Dukh aye to sant sharan jaiye (दुःख आये तो संत शरण जाएँ ).. Dukh aye to sant sharan jaiye (दुःख आये तो संत शरण जाएँ ).. Screenshot Kaise Ho Nirmal Antahkaran Ka Nirmaan Kaise Ho Nirmal Antahkaran Ka Nirmaan Kaise Ho Nirmal Antahkaran Ka Nirmaan Screenshot समझ कर रोने में घाटा नहीं ! No Harm in Awakened weep ( समझ कर रोने में घाटा नहीं ! ) -Pujya Asaram Bapuji Satsang Incident of the life of Topandas , giving the practical knowledge to his desciples by awakened weeping on the death of his grandson समझ कर रोने में घाटा नहीं परम पूज्य संत श्री आशारामजी बापू की अमृतवाणी सत्संग के मुख्य अंश : * बापूजी के गुरु लीलाशाह बापूजी बोलते थे- संसार सब मिथ्या है | * कोई पत्नी पति ये सब जैसे बारिश में सब तिनके मिलते है और फिर बिखर जाते है पानी में | अथवा रेती के दाने मिलते है और बिखर जाते है | *कौन किसका बाप , कौन किसका बेटा , कौन किसका मित्र और कौन किसकी पत्नी ये सब ऐसे ही है खिलवाड़ | * बाबा फुर्सुमल जी, उनका पोता मरने के बाद रो रहे थे | * सत्संगियो ने जाकर फुर्सुमल से पूछा कि आप तो सत्संग करके बड़ा ज्ञान देते थे | बोले चुप करो, तेरे को पता मेरा पोता मेरे को देखके दादा दादा बोलता है | *सत्संगी बोलते थे कि इतने मोह में पड़ गये हैं, बाबा | हम तो इनको गुरु जैसा मानते थे | * दो दिन के बाद बगीचे में सत्संग में लोगों ने पूछा आप तो हम को ज्ञान की बात No Harm in Awakened weep ( समझ कर रोने में घाटा नहीं ! ) -Pujya Asaram Bapuji Satsang Incident of the life of Topandas , giving the practical knowledge to his desciples by awakened weeping on the death of his grandson समझ कर रोने में घाटा नहीं परम पूज्य संत श्री आशारामजी बापू की अमृतवाणी सत्संग के मुख्य अंश : * बापूजी के गुरु लीलाशाह बापूजी बोलते थे- संसार सब मिथ्या है | * कोई पत्नी पति ये सब जैसे बारिश में सब तिनके मिलते है और फिर बिखर जाते है पानी में | अथवा रेती के दाने मिलते है और बिखर जाते है | *कौन किसका बाप , कौन किसका बेटा , कौन किसका मित्र और कौन किसकी पत्नी ये सब ऐसे ही है खिलवाड़ | * बाबा फुर्सुमल जी, उनका पोता मरने के बाद रो रहे थे | * सत्संगियो ने जाकर फुर्सुमल से पूछा कि आप तो सत्संग करके बड़ा ज्ञान देते थे | बोले चुप करो, तेरे को पता मेरा पोता मेरे को देखके दादा दादा बोलता है | *सत्संगी बोलते थे कि इतने मोह में पड़ गये हैं, बाबा | हम तो इनको गुरु जैसा मानते थे | * दो दिन के बाद बगीचे में सत्संग में लोगों ने पूछा आप तो हम को ज्ञान की बात Screenshot Tips for Self Realization (स्व का छंद ) OLD Tatvik Satsang - Pujya Asaram Bapuji Tips for Self Realization (स्व का छंद ) OLD Tatvik Satsang - Pujya Asaram Bapuji Tips for Self Realization (स्व का छंद ) OLD Tatvik Satsang - Pujya Asaram Bapuji Screenshot Raja Janak aur 9 Siddhon ka Prasang Raja Janak aur 9 Siddhon ka Prasang Raja Janak aur 9 Siddhon ka Prasang



Copyright © Shri Yoga Vedanta Ashram. All rights reserved. The Official website of Param Pujya Bapuji