Sant Shri
  Asharamji Ashram

     Official Website
 
 

Register

 

Login

Follow Us At      
40+ Years, Over 425 Ashrams, more than 1400 Samitis and 17000+ Balsanskars, 50+ Gurukuls. Millions of Sadhaks and Followers.

Lok Kalyan Setu in Ordiya

Lokkalyan Article View
मुक्ति के चार साधन

 (पूज्य बापूजी की सारगर्भित अमृतवाणी)

दरभंगा के राजा ने एक महात्मा से पूछा - ''महाराज ! संन्यासी के लक्षण क्या हैं ?''
गुरुदेव ने ब्रह्मचारी (शिष्य) से कहा - ''धत् तेरे की ! संन्यासी के लक्षण पूछने आया है ? इस राजा के कान पकड़कर बाहर निकाल दो । बड़ा आया संन्यासी के लक्षण पूछनेवाला !'' 
ब्रह्मचारी ने राजा को बाहर निकाल दिया । दरभंगा का राजा बड़ा श्रध्दालु था । आत्मारामी संतों की महिमा जानता था । रात भर बाहर खड़ा ठंड से ठिठुरता रहा । सुबह महाराज घूमने निकले, राजा को खड़े देखकर बोले - ''क्यों, गये नहीं?''
''नहीं महाराज !''
''तेरे प्रश्न का उत्तर मिल गया न ?...
(शेष भाग पढ़ने हेतु देखें लोक कल्याण सेतु अंक – 176, फरवरी 2012)
 


View Details: 860
print
rating
  Comments

  8/11/2012 5:05:11 PM
pwbavxwbvxy 


New Comment 
SkOxST , aaluobbdtrug[/url], zricfxgeptba[/link], http://fdsaycinaxuh.com/
  8/11/2012 5:05:06 PM
pwbavxwbvxy 


New Comment 
SkOxST , aaluobbdtrug[/url], zricfxgeptba[/link], http://fdsaycinaxuh.com/
  8/7/2012 9:15:48 PM
Terttu 


New Comment 
Whoa, whoa, get out the way with that good ifnormiaton.

Your Name
Email
Website
Title
Comment
CAPTCHA image
Enter the code
Subsribe for LKS
Minimize

Copyright © Shri Yoga Vedanta Ashram. All rights reserved. The Official website of Param Pujya Bapuji