Sant Shri
  Asharamji Ashram

     Official Website
 
 

Register

 

Login

Follow Us At      
40+ Years, Over 425 Ashrams, more than 1400 Samitis and 17000+ Balsanskars, 50+ Gurukuls. Millions of Sadhaks and Followers.

Lok Kalyan Setu in Ordiya

Lokkalyan Article View
अपने-आप पर ही फिदा

 एक राजा का एक खूबसूरत लड़का था । राजा नृत्य का बड़ा शौकीन था । एक बार उसने अपने लड़के को एक सुंदरी के वेश में सजवाया और उसका चित्र निकलवाया। दो-पाँच साल बीत गये। 

राजा ने मरते समय उस चित्र को एक पेटी में डालकर उस पर ताला लगाया तथा ऊपर राजकीय मुहर मार दी और कहा कि ''इस पेटी को कोई न खोले । मेरी आज्ञा का पालन होता रहे ।''
पिता की जगह पर वह राजकुमार राजा बन गया। 'पेटी कोई न खोले' यह सुनकर उसे वह पेटी खोलने की इच्छा हुई । मंत्री ने कहा - ''आपके पिता ने मना किया था । हमको आज्ञा नहीं है ।'' 
मंत्री के मना करने से लड़के को बड़ा दुःख हुआ। उसने कहाः ''मैं भी तो राजा हूँ । मेरी भी तो आज्ञा चलेगी।''
मंत्री ने कहा - ''आपकी आज्ञा मानता हूँ तो आपके पिता की आज्ञा का उल्लंघन होता है और उनकी आज्ञा मानता हूँ तो आपकी आज्ञा का उल्लंघन होता है ।''
राजा को चिंतित देखकर आखिर मंत्री ने उसे चाबी दे दी । चाबी लेकर पेटी खोली तो राजा ने क्या देखा...
 
(शेष भाग पढ़ने हेतु देखें लोक कल्याण सेतु अंक – 176, फरवरी 2012)
 


View Details: 830
print
rating
  Comments

There is no comment.

Your Name
Email
Website
Title
Comment
CAPTCHA image
Enter the code
Subsribe for LKS
Minimize

Copyright © Shri Yoga Vedanta Ashram. All rights reserved. The Official website of Param Pujya Bapuji