Dhanteras

dhanteras money  bapuji

 

 

धन्वंतरि महाराज खारे-खारे सागर में से औषधियों के द्वारा शारीरिक स्वास्थ्य-संपदा से समृद्ध हो सके, ऐसी स्मृति देता हुआ जो पर्व है, वही है धनतेरस। यह पर्व धन्वंतरि द्वारा प्रणीत आरोग्यता के सिद्धान्तों को अपने जीवन में अपना कर सदैव स्वस्थ और प्रसन्न रहने का संकेत देता है।

धनतेरस के दिन यमराज को दो दीपक दान करना चाहिये | तुलसी के आगे एक दीपक रखना चाहिये, दरिद्रता मिटाने के नेक काम आता है |

 मृत्युना पाशदण्डाभ्यां कालेन च मया सह |

त्रयोदश्यां दीपदानात् सुर्यज: प्रीयतामिति || 

धनतेरस के दिन इस मंत्र से घर के द्वार पर दीपदान करने से अपमृत्यु का भय नहीं होता |

Dhanteras Message what is real Wealth- Pujya Sant Shri Asharam ji Bapu Discourses

 

दीपदान - अर्थ एवं महत्तव

 

किसी नदी, देवता आदि की स्तुति करते हुए दीपक जलाने को दीप दान कहते हैं