Aatmasakshatkar Videos


ब्रह्मरामायण का पाठ करने से शरीर की नश्वरता और ब्रह्म की सत्यता पक्की होती है |

Aatmasakshatkar Audios



इश्वर प्राप्ति सहायक साहित्य

  • इश्वर की और 
  • मन को सीख 
  • निर्भय नाद 
  • जीवन रसायन 
  • दैवी सम्पदा 
  • आत्मयोग 
  • साधना में सफलता 
  • अलख की ओर
  • सहज साधना 
  • शीघ्र इश्वरप्राप्ति 
  • इष्टसिद्धि 
  • जीते जी मुक्ति 
  • ब्रह्मरामायण
  • सामर्थ्य स्त्रोत 
  • मुक्ति का सहज मार्ग 
  • आत्मगुंजन 
  • परम तप 
  • समता साम्राज्य 
  • अनन्य योग 
  • श्री योग वाशिष्ठ महारामायण 

All is dream

Admin
/ Categories: PA-000637-Tips English

All is dream

When you have dreams in sleep... after getting up in the morning remind yourself of the falsehood of those dreams. Just as the dreams in your sleep are false ...so is this world. Start this practice from today. Say to yourself that what I am saying, is indeed a dream... what I am eating, is indeed a dream... while sitting, sleeping... all is in a dream. Consider them all as a dream while concentrating in your throat region. If you rigorously continue this practice for 2-3 months, you will soon get to realise within dreams too that they are false dreams. When you observe dreams as false, then gradually considering the world as a dream state will easily become more profound.

- Pujya Bapuji

Print
5496 Rate this article:
4.4
Please login or register to post comments.

Self Realization (English)

RSS

आत्मसाक्षात्कार सहायक

RSS

परिप्रश्नेन

परमात्मप्राप्ति में नियमो का पालन जरुरी है कि सिर्फ परमात्मा के प्रति तड़प बढ़ाने से ही परमात्मप्राप्ति हो सकती है

परमात्मप्राप्ति में नियमो का पालन जरुरी है कि सिर्फ परमात्मा के प्रति तड़प बढ़ाने से ही परमात्मप्राप्ति हो सकती है

पूज्य बापूजी ! ईश्वरप्राप्ति हमारा लक्ष्य है लेकिन व्यवहार में हम भूल जाते है और भटक जाते है। कृपया व्यवहार में भी अपने लक्ष्य को सदैव याद रखने की युक्ति बताये।

पूज्य बापूजी ! ईश्वरप्राप्ति हमारा लक्ष्य है लेकिन व्यवहार में हम भूल जाते है और भटक जाते है। कृपया व्यवहार में भी अपने लक्ष्य को सदैव याद रखने की युक्ति बताये।

RSS

आत्मगुंजन