Pujya Asaram Bapu ji (आसाराम बापू जी) Darshan Wallpaper 5th August 2013

Admin 0 3351 Article rating: No rating

 जैसे सामान्य मनुष्य को पत्थर, गाय, भैंस स्वाभाविक रीति से दृष्टिगोचर होते हैं, वैसे ही ज्ञानी को निजानन्द का स्वाभाविक अनुभव होता है |

Pujya Asaram Bapu ji (आसाराम बापू जी) Darshan Wallpaper 8th August 2013

Admin 0 4315 Article rating: No rating

 जिस प्रकार एक धागे में उत्तम, मध्यम और कनिष्ठ फूल पिरोये हुए हैं, उसी प्रकार मेरे आत्मस्वरूप में उत्तम, मध्यम और कनिष्ठ शरीर पिरोये हुए हैं |

RSS
135678910Last