Admin

Pujya Asaram Bapu ji (आसाराम बापू जी) Darshan Wallpaper 15th August 2013

आजादी के इस पैगाम को सुननेवालों ! आप वास्तव में आजाद ही हो किन्तु आपके दुर्बल विचार, दुर्बल वासनाएँ एवं दुर्बल बनानेवाले संस्कार ही आपको बाँधे हुए हैं । अतः दूर कर दो इन दुर्बल विचार एवं वासनाओं को और प्रार्थना करो कि : ‘हे गीतानायक श्रीकृष्ण ! हे आत्मवेत्ता संतों ! आपकी सच्ची आजादी दिलानेवाली ब्रह्मज्ञान की दिव्य वाणी हमारे दिल में उतर जाये- ऐसी कृपा करना... संसार के विकारी आकर्षणों से संभलकर हम निर्विकारी नारायणस्वरूप में प्रतिष्ठित हो जाएँ- ऐसा हमारा सौभाग्य बना देना ।' हे भारतवासियों ! उठो, जागो एवं अपनी असली आजादी की ओर कदम आगे बढाओ । विषय-विकारों के आगे दीन-हीन बनने के लिए आपका मनुष्य-जन्म नहीं हुआ है वरन् विषय-विकारों के सिर पर पैर रखकर परब्रह्म परमात्मा के परम सुख को पाने के लिए, जन्म-मरण के चक्र से आजाद होने के लिए आपने मानव-जन्म पाया है । अंग्रेजों के शासन से तो आप मुक्त हो गये हो लेकिन अब आपको जन्म-मरण के चक्र से आजाद होना है । हे मेरे देशवासियों ! अपनी महिमा को जानो। अपने गौरव को पहचानो । बार-बार माता के गर्भ की यातना में मत गिरो । जिस दिन आप इस जन्म-मरण की बेडी से छूटकर अपने नित्य मुक्त स्वभाव का अनुभव कर लोगे, उसी दिन सच्ची आजादी भी पा लोगे । ॐ आनंद... ॐ निर्भयता... ॐ शांति...

 

 
 


Previous Article Hamari sankriti ki raksha karne vale prahariyon ka hounsa buland ho aur desh ki sankriti ke liye jo aage ate hain ve sada aage rahen - Asaram bapuji quote
Next Article Ham sabhi ko apne-apne kshatron me satarkata rakhni chahiye evam sanriti raksha ke liye karya karna chahiye - Asaram bapu ji Quote
Print
4012 Rate this article:
No rating
Please login or register to post comments.